कन्हैया जी के जन्मदिन की हार्दिक शुभकामनाएं।

श्री वार्ष्णेय मंदिर में 15 अगस्त की मध्य रात्रि को जन्मेंगे कन्हैया।

Janmashtami

प्रातः दुग्धभिषेक, सांय काल फूल बंगला और मध्य रात्रि 12 बजे कन्हैया जी का अवतरण।

श्री वार्ष्णेय मंदिर में श्री कृष्ण जन्माष्टमी पर्व, धार्मिक आस्था और साथ हर्षोल्लास से मनाया जायेगा । विगत वर्षो की भांति, इस वर्ष भी कान्हा के जन्मोत्सव के लिए श्री वार्ष्णेय मंदिर में जबर्दस्त तैयारियां चल रही हैं।

श्री वार्ष्णेय मंदिर के व्यवस्थापक श्री राधेश्याम गुप्ता स्क्रैप वालों ने पत्रकारवार्ता में पत्रकारों को इस कार्यक्रम की जानकारी देते हुये बताया कि श्री कृष्ण जन्माष्टमी कार्यक्रम के लिए सम्पूर्ण मंदिर प्रांगण को सतरंगी लाइटों से सजाया जा रहा है। स्वंत्रता दिवस के शुभ अवसर पर मंदिर प्रांगण में तिरंगी छटा भी बिखरी रहेगी।

मुख्य आकर्षण रहेगें खुद बाल रुप में ठाकुर जी। इस विशेष अवसर पर मथुरा वृंदावन के कारीगरों द्वारा ठाकुर जी समेत सभी विग्रहो की आकर्षक पोशाक तैयार की गयी हैँ।

मंदिर प्रवक्ता भुवनेश आधुनिक और मंदिर के परम भक्त श्री संजीव वैभव के अनुसार श्री कृष्ण जन्माष्टमी कार्यक्रम का शुभआरम्भ प्रातः 9:30 बजे लडडू गोपाल जी के दुग्धभिषेक से होगा। 15 अगस्त को सांय 6 बजे से ठाकुर जी अपने भक्तों को दर्शन देंगे। रात्रि में 12 बजे श्री कृष्ण के जन्म के समय दुग्धभिषेक होगा तदुपरांत वासुदेव जी कान्हा जी को सूप मैं रखकर यमुना पार कर नंदबाबा के यहाँ छोड़कर आयेगे। इन दृश्यों को रूपांकित करने के लिए विशेष ध्वनियों एवं प्रकाश का आयोजन किया जायेगा। इस लीला को देखने दूर दूर से भक्त श्री वार्ष्णेय मंदिर पहुचेंगे।

मंदिर के परम भक्त श्री विष्णु शेखर गुप्ता और श्री दिनेश चन्द्र भट्टा वालों के अनुसार श्री कृष्ण जन्माष्टमी पर अपार भीड़ को सभांलने की विशेष व्यवस्था रहेगी। वाहन पार्किंग हीरालाल बारहसैनी इंटर कॉलेज में रहेगी। वहीं से भक्त वेरीकेटिंग किये गये मार्ग से होते हुए श्री वार्ष्णेय मंदिर पहुँचेगे। श्री वार्ष्णेय महाविद्यालय के मुख्य गेट के सामने जूता चप्पल जमा करने की व्यवस्था रहेगी। सुरक्षा दृष्टि से प्रशासन के सहयोग के लिए श्री वार्ष्णेय मंदिर सेवा समिति के 100 से भी ज्यादा स्वयंसेवियों को व्यवस्थाएं दी गयी हैं। साथ ही 9 क्लोज सर्किट कैमरा भी लगाए गए हैं। जो चप्पे-चप्पे पर नजर रखेंगे।

व्यवस्था सहयोगी श्री पल्लव गुप्ता और श्री गुलाब चंद्र सुपारी वालों के अनुसार 15 अगस्त होने के कारण यह उत्सव देश भक्ति से ओत प्रोत वातावरण में मनाया जायेगा। मुख्य हॉल में बांसुरी वादन के लिए कलाकारों की टीम आमंत्रित की गयी है। संगीतमयी सतरंगी फव्वारा अपनी शीतलता का आभास कराएगा।

अन्नू बीड़ी और कृष्ण कुमार सीटू के अनुसार विजयगढ़ और हाथरस से कई झाकियों की प्रस्तुति होगी। अन्य सहयोगी अशोक कुमार वार्ष्णेय के अनुसार शिवालय में बाबा अमरनाथ के वर्फानी गुफा के दर्शन मंदिर परिसर में कराये जायेगें।

इस कार्यक्रमों को सफल बनाने के लिए मंदिर व्यवस्थापक श्री राधेश्याम गुप्ता स्क्रैप वालों ने महंत मनोज मिश्रा, अनिल बजाज, राजेश सेंचुरी, सुमित गोटेवाल, संतोष वार्ष्णेय डिव्वा, राजू गनपत, अनिल बजाज, नितिन स्वरुप वेबसाइट वाले, सुनील मित्तल, सुनील सी एल, हीरेन्द्र अग्रवाल, गिरधर अग्रवाल, देवेंद्र भोला, देवेंद्र नीटू, विरजू लाइट, बंटी जैसवाल, लक्ष्मी वार्ष्णेय, अलका वार्ष्णेय, दुर्गेश वार्ष्णेय आदि को व्यवस्थाएं सौंपी हैं।